कोरोना की खतरनाक रफ्तार: पटियाला की नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में एक साथ 46 विद्यार्थी मिले संक्रमित, यूनिवर्सिटी सील


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटियाला (पंजाब)
Published by: निवेदिता वर्मा
Updated Thu, 05 May 2022 09:03 AM IST

सार

डॉ. सुमित सिंह ने बताया कि लॉ यूनिवर्सिटी के जो 61 विद्यार्थी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, उनमें किसी को भी अस्पताल में दाखिल कराने की जरूरत नहीं पड़ी। सभी संक्रमितों को हल्का बुखार, खांसी व जुकाम की शिकायत है।

ख़बर सुनें

पंजाब में एक बार फिर से कोरोना ने खतरनाक रफ्तार पकड़ ली है। बुधवार को सेहत विभाग के अधिकारियों में उस समय हड़कंप मच गया, जब पटियाला के गांव सिद्धूवाल स्थित राजीव गांधी नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में एक साथ 46 विद्यार्थी कोरोना संक्रमित पाए गए। इससे पहले यूनिवर्सिटी में 15 और विद्यार्थी कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं। इसके बाद अब यहां कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 61 हो गई है। 

इसके बाद सेहत विभाग ने बुधवार को एहतियाती कदम उठाते हुए यूनिवर्सिटी को पूरी तरह से सील कर दिया। अब न यूनिवर्सिटी में कोई बाहर से अंदर जा सकेगा और न ही अंदर से बाहर जा सकेगा। सेहत विभाग के डा. सुमित सिंह ने बताया कि बुधवार को विभाग की टीम की ओर से 500 और सैंपल कोविड जांच को लिए गए हैं। इनमें विद्यार्थियों के साथ-साथ फैकेल्टी मेंबर शामिल हैं।

डॉ. सुमित सिंह ने बताया कि लॉ यूनिवर्सिटी के जो 61 विद्यार्थी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, उनमें किसी को भी अस्पताल में दाखिल कराने की जरूरत नहीं पड़ी। सभी संक्रमितों को हल्का बुखार, खांसी व जुकाम की शिकायत है। इसलिए इन सभी स्टूडेंट्स को यूनिवर्सिटी में ही आइसोलेट करके उपचार दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि ज्यादातर संक्रमितों ने कोरोना के लिए वैक्सीनेशन करा रखा है। यही वजह है कि इनमें कोरोना के ज्यादा खतरनाक लक्षण देखने को नहीं मिल रहे हैं। लॉ यूनिवर्सिटी में कोरोना के फैलने के बारे में डॉ. सुमित सिंह ने बताया कि 26 अप्रैल को कुछ स्टूडेंट्स बाहर से वापस अपने हॉस्टल लौटे थे। इनमें कुछ कोरोना संक्रमित थे, लेकिन इन्होंने लक्ष्णों की तरफ ध्यान नहीं दिया और आने के बाद पार्टी भी की। जिससे कोरोना फैल गया। लेकिन अब कोरोना ज्यादा न फैले, इस पर पूरी नजर रखी जा रही है।

विस्तार

पंजाब में एक बार फिर से कोरोना ने खतरनाक रफ्तार पकड़ ली है। बुधवार को सेहत विभाग के अधिकारियों में उस समय हड़कंप मच गया, जब पटियाला के गांव सिद्धूवाल स्थित राजीव गांधी नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में एक साथ 46 विद्यार्थी कोरोना संक्रमित पाए गए। इससे पहले यूनिवर्सिटी में 15 और विद्यार्थी कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं। इसके बाद अब यहां कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 61 हो गई है। 

इसके बाद सेहत विभाग ने बुधवार को एहतियाती कदम उठाते हुए यूनिवर्सिटी को पूरी तरह से सील कर दिया। अब न यूनिवर्सिटी में कोई बाहर से अंदर जा सकेगा और न ही अंदर से बाहर जा सकेगा। सेहत विभाग के डा. सुमित सिंह ने बताया कि बुधवार को विभाग की टीम की ओर से 500 और सैंपल कोविड जांच को लिए गए हैं। इनमें विद्यार्थियों के साथ-साथ फैकेल्टी मेंबर शामिल हैं।

डॉ. सुमित सिंह ने बताया कि लॉ यूनिवर्सिटी के जो 61 विद्यार्थी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, उनमें किसी को भी अस्पताल में दाखिल कराने की जरूरत नहीं पड़ी। सभी संक्रमितों को हल्का बुखार, खांसी व जुकाम की शिकायत है। इसलिए इन सभी स्टूडेंट्स को यूनिवर्सिटी में ही आइसोलेट करके उपचार दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि ज्यादातर संक्रमितों ने कोरोना के लिए वैक्सीनेशन करा रखा है। यही वजह है कि इनमें कोरोना के ज्यादा खतरनाक लक्षण देखने को नहीं मिल रहे हैं। लॉ यूनिवर्सिटी में कोरोना के फैलने के बारे में डॉ. सुमित सिंह ने बताया कि 26 अप्रैल को कुछ स्टूडेंट्स बाहर से वापस अपने हॉस्टल लौटे थे। इनमें कुछ कोरोना संक्रमित थे, लेकिन इन्होंने लक्ष्णों की तरफ ध्यान नहीं दिया और आने के बाद पार्टी भी की। जिससे कोरोना फैल गया। लेकिन अब कोरोना ज्यादा न फैले, इस पर पूरी नजर रखी जा रही है।



Source link

Leave a Comment